zika virus in hindi | जीका वायरस क्या है , लक्षण और उपचार

(Read here in English)

Zika Virus Kya hai? 

जीका एक विषाणु है जो दिन में सक्रिय रहता है ! इससे होने वाली बिमारी आमतौर पर ज़ीका बीमारी कहलाती है!
यह सबसे पहले बंदरों में पाया गया था, युगांडा के ज़ीका जंगल में रहने वाले बन्दर इस बीमारी से ग्रसित थे इसलिए इस बीमारी का नाम ज़ीका बीमारी और वायरस Zika Virus कहलाया गया!
यह बीमारी 1947 में पहचान में आयी थी जो की आज अफ्रीका से एशिया तक फैला  है!
1954 में पहली बार बीमारी इंसानो में देखी गयी जो की दीगर बीमारियों के मुकाबले ज़्यादा खतरनाक नहीं थी इसिलए शायद वैज्ञानिकों ने इसके उपचार पर ज़्यादा शोध नहीं किया, हाल फिलहाल में इसका कोई ख़ास इलाज नहीं है और इससे बचाव ही इसका इलाज है!

banner  for  the post "zikra virus"
zikra virus 



प्रभाव 

ज़ीका वायरस इतना खतरनाक होता है की संक्रमित माँ को बुखार आने पर उसके गर्भ में पल रहे बच्चे को भी बुखार आ सकता है तथा बच्चे का अपूर्ण व अविकसित पैदा होना भी संभव है! 
सबसे बड़ी बात यह की आमतौर पर इसमें कोई लक्षण नज़र नहीं आते और आते हैं तो ऐसे की यह कमज़ोर कर देता है अंधापन, दिमाग़ी बीमारी और लिवर से संभंधित बीमारियां होने की सम्भावनाये हो जातीं हैं! 



लक्षण 

ज़ीका बीमारी की पहचान होना मुश्किल है कई बार तो कोई लक्षण होता ही नहीं है लेकिन ज़्यादातर इसमें निम्न लक्षण देखने को मिलते हैं -
  • बुखार - जिसे ज़ीका बुखार भी कहा जाता है!
  • शरीर पर लाल चकत्ते!
  • सर दर्द!
  • लाल आँखे!
  • जोड़ो में दर्द!
  • अंधापन बहरापन 
  • कमज़ोरी और थकान 


कारण 

ज़ीका वायरस एडीज़ प्रकार के मच्छर से फैलता है! यह वही मच्छर है जो डेंगू , चिकिनगुनिया और पीले बुखार को फैलता है! 
यह संक्रमित के खून से और उसके साथ हुए शारारिक सम्भन्ध से फैल सकता है , और संक्रमित माँ से पैदा हुए बच्चे को भी ये रोग होजाना मुमकिन है जिसमे बच्चे का अविकसित या अपूर्ण पैदा होने की संभावना शामिल है!




जांच 

इस रोग की पहचान लिए
  • खून की जांच 
  • पेशाब की जांच
  • लार की जांच 
कराई जाती है जिसमे मौजूद ज़ीका वायरस के RNA का पता चल जाता है!




निवारण व उपचार

इस बीमार का फिलहाल कोई इलाज या टीका वगैरह मौजूद नहीं है , बुखार या दर्द होने पर उसका इलाज किया जाता है और बचाव की सलाह दी जाती है! ज़ीका वायरस से बचने और इलाज के वहीँ उपाए हैं जो डेंगू के लिए किये जाते हैं! इस बीमारी से ज़्यादातर मृत्यु नहीं देखि गयी है लेकिन ये बीमारी उतनी ही खतरनाक है जितनी की डेंगू या चिकिनगुनिया है! मच्छरों से होने वाली बाकी बीमारियों ही की तरह इसकी रोकथाम और इलाज किया जाता है लेकिन इसका कोई टीका या वैक्सीन अभी मौजूद नहीं है इसलिए ऐसे में इससे रोकथाम बहुत ज़रूरी है और इसके बारे में जानकारी होनी चाहिए और सबको चाहिए की जानकारी को दोस्रो को देकर आम किया जाये!




बचाव और रोकथाम

  • मच्छरों से बचें 
  • साफ़ सफाई रखें 
  • जहाँ भी पानी इखट्टा हो साफ़ रखें 
  • हलके रंग के कपडे पहनें 
  • बुखार या दर्द ज़्यादा समय तक रहने पर तुरंत डॉक्टर से मिलें 
  • पानी ज़्यादा पियें 
  •  मच्छर दानी का इस्तेमाल करें 

मुझे  उम्मीद है आपको Zika Virus के बारे में ये जानकारी अच्छी लगी होगी ,ऐसी ही और जानकारियों के लिए से जुड़े रहें!
और इस पोस्ट को व्हाट्सप्प पर शेयर करना न भूलें  ☺️ -



Share on Whatsapp [Phone]

Share on Whatsapp [PC]

0 Comments: